गेहूं की उपज के आंकलन को क्राप कटिंग का स्थलीय निरीक्षण करने पहुंचे जिलाधिकारी

उन्नाव। जनपद उन्‍नाव में गेहूं की उपज के आकलन के लिये क्राप कटिंग कराई जा रही है। आज जनपद के विकास खण्ड सिकन्दरपुर सरोसी के ग्राम बनी एवं देवाराकलॉ में जिलाधिकारी रवीन्द्र कुमार ने तथा प्यारेपुर एवं मोमीनपुर में उप कृषि निदेशक डा0 नन्द किशोर ने क्राप कटिंग कराई। जिलाधिकारी ने बताया कि जनपद में उत्पादन एवं उत्पादकता के आकलन के लिये विकास खण्ड के राजस्व कर्मी, कृषि विभाग एवं इफको टोक्यो बीमा कम्पनी के प्रतिनिधि की उपस्थिति में क्राप कटिंग कराई जा रही है। उन्होने बताया कि क्राप कटिंग परिणाम के आधार पर ही कृषि क्षेत्र में विकास की योजनायें बनाई जाती है और प्राकृतिक आपदा में क्षति का आकलन भी किया जाता है। जनपद की औसत पैदावार से आधी पैदावार से कम उत्पादकता होने पर किसान क्रेडिट कार्ड धारक किसानों को इफको टोक्यो बीमा कम्पनी द्वारा मुआवजा दिया जायेगा।
          उप कृषि निदेशक ने बताया कि जनपद में 40 जगह क्राप कटिंग कृषि विभाग के अधिकारियों की देखरेख में कराई जायेगी। जिलाधिकारी ने राजस्व एवं कृषि विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिये हैं कि क्राप कटिंग का कार्य विशेष सावधानी बरतते हुए पूर्ण करायें। जिलाधिकारी ने अवगत कराया कि किसान भाइयों की उपज को सरकार द्वारा निर्धारित समर्थन मूल्य रू0-1925/- प्रति कु0 की दर पर खरीद कराने के लिये जनपद में 60 क्रय केन्द्र स्थापित है। सभी किसान भाई अपने गेहूं क्रय केन्द्र पर ही बेचे। किसी भी तरह की परेशानी होने पर खण्ड विकास अधिकारी, उपजिलाधिकारी, उप कृषि निदेशक एवं जिला खाद्य विपणन अधिकारी को सूचित करें।
क्राप कटिंग में जिलाधिकारी के साथ पुलिस अधीक्षक विक्रान्त वीर, तहसीलदार, उप कृषि निदेशक एवं सांख्यिकी अधिकारी, उप निदेशक सूचना उपस्थित रहे।



Popular posts from this blog

स्पेशल ट्रेन से वापस लौटे श्रमिको को तीन दिनों के लिये नवोदय विद्यालय में क़वारन्टीन किया गया

दबंगो की पिटाई से अधेड़ घायल, पीड़ित के पुत्रों ने पुलिस को दी तहरीर

लोक निर्माण विभाग के 46 प्रमुख जिला मार्गो व अन्य जिला मार्गों को राज्य मार्ग की श्रेणी में किया गया उच्चीकृत परिवर्तित